1. Ankit Vagrecha

    mene jo paya wo dada ne diya tha or jo khoya wo me nadani thi

  2. Ankit Vagrecha

    mene jo paya wo dada ne diya tha or jo khoya wo me nadani thi
    jai nakoda bheruji namh

  3. जो कुछ पाया आपके दरबार से मेरी एक आखरी तम्मना हैं
    जब प्राण तन से निकले वो पूनम और नाकोडा जी तीर्थ हो

  4. Mehul bhandari

    shree Nakoda bhairav dav ki jay
    मूरत बसाले दादा की अपने मन के मंदिर में,
    और डूब जाएँ आओ भैरू के इस अदभुत रूप में.
    करें प्रार्थना इतनी मिलकर भैरू सबका उद्धार करे,
    धन धान्य से नाकोडा भैरू सबके ही भंडार भरे.
    मनोकामना पूरी हों ,उसकी जो दादा का ध्यान धरे
    सच्चे मन से मिलकर हम सब भैरू जी को प्रणाम करें. —

    बोल साचा देव की जय।।
    नाकोडा भैरवदेव की जय।।

Leave A Comment?